Loading...

सूरज चंदा साथ साथ यह एक कहानी की किताब है जिसे नेशनल बुक ट्रस्ट ने पब्लिश किया है। इस किताब के लेखक संजीव जायसवाल है और चित्रांकन किया है इरशाद कप्तान ने। इस किताब मे मात्र २८ पन्ने है। हर एक पन्ने पर बहुत ही आकर्षक चित्र है जो बच्चो को काफी लुभायेंगे भाषा सहज एवं सुन्दर है। किताब की कीमत ४० रुपये है।

ईस किताब की कहानी बहुत ही रोचक है जो दो भाइयो के बारे मे है – सूरज और चंदा। एक दिन वह ठान लेते है की दोनों एक साथ घुमने जायेंगे, क्योंकि और दिनों मे सूरज आता है तो चंदा चला जाता है, और जब चंदा आता है तो सूरज चला जाता है। और वे निकल पड़ते है समुद्र मे दुबकी लगाते है, पहाड़ों पर दौड़ लगाते है, अब उनका मन करता है की देखे लोग क्या कर रहे है। जब वह दो अलग अलग घरो के पास जाते है तो बड़ी गड़बड़ी हो जाती है, मास्टर जी को लगता है सुबह हो गयी और वे निकल पड़ते है स्कूल की तरफ। चंदा पहुचता है बच्चो के घर, वे सोचते है अभी रात ही है और सोते रहते है।

यही से शुरू होती है परेशानिया..

फिर देखे अलग अलग जगह पर क्या परेशानिया आती है। यह किताब बच्चो को कल्पनाओं के गोते लगाने मे जरुर मदत करेगी। इस किताब को शिक्षक हाव भाव के साथ पढ़कर सुना सकते है, बच्चे इसमे जरुर आनंद की अनुभूति महसूस करेंगे।

Stories for children and Stories of children

Sitting with children is like sitting in a time machine. It takes you to your own childhood days. I had the good fortune of spending a good part of 2019 with children,…

Nagesh Hegde Parag Nurtures 28 January 2020

डर साझा किए जाने वाली बात है

विज्ञान कहता है कि एक पेड़ की कोई दो पत्तियां भी एक जैसी नहीं होतीं। उसी तरह बच्चे परिवार के हों या समाज के, उनका स्वभाव और व्यक्तित्व भी अलग-अलग ही होता है।

Navnit Nirav Parag Reads 17 January 2020