Loading...

एलईसी के साथ मेरा सफर

लाइब्रेरी एड्युकेटर्स कोर्स करने के बारे में आज से चार साल पहले यानी 2016 में सोचा था। मन में हिचकिचाहट थी कि किताबों के सम्पादन का लम्बा अनुभव है तो फिर क्या यह कोर्स करना चाहिए।

दीपाली शुक्ला Parag Reads 23 April 2020