Loading...

लाइब्रेरी में एक दिन

आज स्कूल में तीसरी कक्षा के बच्चों को नाव चली” कहानी सुनाने की मेरी योजना थी, और उसकी पूर्व तैयारी भी मैंने कर ली थी, क्या करना है, क्या सुनाना है या क्या पूछना है, ये सोचते हुए मैं लाइब्रेरी पहुंची – जैसे ही मैं वहाँ पहुंची बच्चों ने बड़े ही उत्साह के साथ मेरा स्वागत किया और पूछा आज कौन सी कहानी आप सुनाएंगी?

Nitu Singh Parag Reads 11 June 2019

हड्डी और अन्य नाटक

यह नाटक की किताब है जिसे एकलव्य प्रकाशन ने पब्लिश किया है| यह किताब चकमक मे प्रकाशित नाटकों का संकलन है जो अलग अलग समय चकमक मे प्रकाशित हुए|

Gajendra Raut Parag Reads 7 June 2019

अंडे में एक और अंडा है

यह किताब एक चित्र और शब्द पहेली की किताब है| जिसमे कोई तय कहानी नहीं है बल्कि हर बच्चा अपनी कल्पना और तर्क के मुताबिक इसको गढ़ सकता है| यह किताब बच्चों के कल्पना और तर्क शक्ति को तो बढाती ही है साथ ही उनको नए शब्द तलाशने को भी प्रेरित करती है|

Nitu Singh Parag Reads 24 May 2019

Sau Pedon ke Naam

The Riyaaz Academy for Illustrators was seeded by the Parag Initiative as an effort to build a cadre of trained children’s illustrators who understand children and reading.

Swaha Sahoo Parag Nurtures 14 May 2019

मैं तो बिल्ली हूँ

टिंटी कहती है कि वह एक बिल्ली है l पर उसकी माँ कहती है कि वह उसकी नन्ही सी बेटी है l टिंटी है कौन? यह कहानी इसी प्रश्न का जवाब ढूंढते हुए बचपन की मज़ेदार सोच और मासूम ख्यालों को दर्शाती है l

Ms Priyanka Singh Parag Reads 10 May 2019

Mother Steals a Bicycle and other Stories

Mother Steals A Bicycle and Other Stories is a collection of stories told by the narrator, who shares with the reader a series of stories about her mother’s (Amma) exploits in a southern village in India where she grew up.

Ms Swaha Sahoo Parag Reads 3 May 2019

जाफ़ता

जाफ़ता एक छोटे से लड़के की कहानी है, जो एक अफ्रीका के एक गांव में पल-बढ़ रहा है। जफ़ता जो अपनी रोज़ के भावनाओ और मूड की तुलना विभिन्न जानवरों के हाव भावसे करता है। जैसे – “जब मैं थका हुआ हूं, मुझे धुप में एक छिपकली की तरह पड़े रहना पसंद है”, बड़ी मजेदार बात है न सिर्फ उसे जानवर पसंद हैं बल्कि वह उनकी मनोदशा भी समझाता है।

Nitu Singh Parag Reads 30th April 2019

Reading that Matters

Reading matters, wherever you are. For the tribal community in Rajasthan’s Bali Block,  a vibrant school library has infused interest in reading and books, and made the school a happy place for children.

Ms Aanchal Mittal Parag Library 23 April 2019

Must we pick flowers?

‘My parents have been picking flowers their entire life. I hate picking flowers.’

The opening lines and the heap of pink flowers welcome you to no ordinary ‘flower picking’ but a metaphor for something rather stark – manual scavenging. 

Ms Proma Basu Roy Parag Reads 19 April 2019

For the impact of libraries!

किताबें झांकती हैं बंद अलमारी के शीशों से’, read Gulzar in one of his poems. As I re-read it, I wondered if these ‘band almaris’ had been open. If they had been open, has everyone consumed the pleasure of books before the almirahs closed? Will they be open forever?

Ms Ajaa Sharma Parag Nurtures 16 April 2019

Page 1...9